डीयू एडमिशन 2020:दूसरी कट ऑफ लिस्ट के तहत पहले दिन 9785 स्टूडेंट्स ने एडमिशन के लिए किया आवेदन, 2580 को एडमिशन के लिए मिली मंजूरी

 

दिल्ली यूनिवर्सिटी में दूसरी कट ऑफ के तहत पहले दिन हुए एडमिशन प्रोसेस के लिए 9,700 से ज्यादा स्टूडेंट्स ने अप्लाय किया। इस बारे में यूनिवर्सिटी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि सोमवार को पहले दिन एडमिशन के लिए में कुल 9785 स्टूडेंट्स ने आवेदन किया, जिनमें से 2580 को एडमिशन के लिए मंजूरी मिली है।

17 अक्टूबर को जारी हुई दूसरी लिस्ट

उन्होंने बताया कि दो हजार से ज्यादा स्टूडेंट्स ने फीस जमा करा दी है। डीयू ने 17 अक्टूबर को दूसरी कट ऑफ लिस्ट जारी की, जिसके तहत एडमिशन की शुरुआत सोमवार 19 अक्टूबर से शुरू हुई, जो 21 अक्टूबर शाम पांच बजे तक चलेगी। वहीं, 10 अक्टूबर को जारी पहली कटऑफ लिस्ट के तहत करीब 50 फीसदी सीटें भर चुकी हैं।

24 अक्टूबर को जारी होगी तीसरी कट ऑफ लिस्ट

पहली और दूसरी कटऑफ के बाद अब यूनिवर्सिटी 24 अक्टूबर को तीसरी कट ऑफ लिस्ट जारी करेगा। तीसरे कटऑफ के बाद एडमिशन की शुरुआत 26 अक्टूबर से होगी। तीसरी कटऑफ के तहत कई कोर्सेस के लिए कट ऑफ काफी ज्यादा और कई के लिए कम जा सकते हैं। डीयू की पहली कट-ऑफ लिस्ट के तहत 34, 800 से ज्यादा स्टूडेंट्स ने ग्रेजुएशन कोर्सेस के लिए एडमिशन लिया है।

आरटीआई रिपोर्ट:केनरा बैंक ने 8 साल में 47,310 करोड़ रुपए का लोन राइट ऑफ किया, रिकवरी सिर्फ 19 फीसदी रही

केनरा बैंक ने RTI के तहत 100 करोड़ रुपए से ज्यादा के डिफाल्टर्स की जानकारी देने से इनकार कर दिया है।
  • आठ साल में सिर्फ 8901 करोड़ रुपए के बैड लोन की रिकवरी हुई
  • राइट ऑफ के तहत बैंक की बैलेंस शीट से हटा दिया जाता है लोन

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक (PSBs) केनरा बैंक ने वित्त वर्ष 2012-13 से 2019-20 के दौरान आठ सालों में 47,310 करोड़ रुपए के बैड लोन को राइट ऑफ किया है। जबकि इस अवधि में रिकवरी 19 फीसदी यानी 8901 करोड़ रुपए रही है। सूचना का अधिकार (RTI) अधिनियम के तहत मिले डाटा से यह जानकारी सामने आई है।

बड़े डिफाल्टर्स की जानकारी देने से इनकार

RTI के तहत, बैंक से 100 करोड़ रुपए से ज्यादा के डिफाल्टर्स की जानकारी भी मांगी गई थी। लेकिन अन्य PSBs की तर्ज पर केनरा बैंक ने भी बड़े डिफाल्टर्स की जानकारी देने से इनकार कर दिया है। बैंक ने RTI के जवाब में कहा है कि यह निजी सूचना से जुड़ा मामला है और इसका सार्वजनिक हित से कोई लेना-देना नहीं है। ऐसे में RTI एक्ट के सेक्शन 8(1)(j) के तहत इसका जवाब नहीं दिया जा सकता है।

क्या होता है राइट ऑफ?

जब लोन की रिकवरी नहीं हो पाती है तो बैंक उसे नॉन परफॉर्मिंग असेट (एनपीए) घोषित कर देता है। ज्यादा एनपीए से बैंक की बैलेंसशीट गड़बड़ा जाती है। इस गड़बड़ी को ठीक करने के लिए बैंक कभी ना वसूले जा सकने वाले लोन को राइट ऑफ कर देते हैं। राइट ऑफ करने से लोन बैलेंस शीट से हट जाता है। राइट ऑफ को सामान्य भाषा में बट्टा खाता भी बोला जाता है।

SBI ने 2012 से 2020 तक 1.23 लाख करोड़ का कर्ज राइट ऑफ किया

एक अन्य RTI के मुताबिक, देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने 2012 से 2020 के दौरान एक लाख 23 हजार 432 करोड़ रुपए का कर्ज राइट ऑफ किया है। 31 मार्च 2020 तक इसमें से केवल 8,969 करोड़ रुपए की वसूली हुई है। यानी 7.26 फीसदी। बाकी की रकम की वसूली आज तक नहीं हो पाई है। एसबीआई के बड़े कर्जदारों में वीडियोकॉन, आलोक इंडस्ट्रीज और भूषण स्टील जैसी कंपनियां शामिल हैं।

राइट ऑफ अमूमन 100 करोड़ से ऊपर का कर्ज होता है

बैंक बड़े कर्जदारों के कर्ज को राइट ऑफ करते हैं। यह राइट ऑफ 100 करोड़ रुपए से ज्यादा के कर्ज को किया जाता है। पिछले कुछ समय में देश में ऐसे सैकड़ों कर्जदार हैं जिन्होंने बैंकों से 100 करोड़ से ज्यादा का कर्ज लिया है। बाद में जब वसूली नहीं हुई तो उन्हें बैंकों ने राइट ऑफ कर दिया।

 

शाहरुख खान नवंबर में शुरू करेंगे नई फिल्म:'जीरो' के 1500 दिन बाद होगा शाहरुख की नई फिल्म का ऐलान, फिल्म में दीपिका, जॉन भी होंगे

 

पूरे दो साल के ब्रेक के बाद शाहरुख खान नवंबर में अपकमिंग फिल्म 'पठान' की शूटिंग शुरू करेंगे। रिपोर्ट्स की मानें तो यशराज फिल्म्स इस फिल्म का अनाउंसमेंट शाहरुख खान के जन्मदिन पर करेगा, जो कि 2 नवंबर को है। अगर ऐसा होता है तो यह करीब 1500 दिन बाद शाहरुख की पहली फिल्म का ऐलान होगा। इससे पहले अगस्त 2016 में उनकी फिल्म 'जीरो' की घोषणा हुई थी।

870 दिन बाद शूटिंग शुरू करेंगे

बॉलीवुड हंगामा की रिपोर्ट के मुताबिक, शाहरुख ने अपनी पिछली फिल्म 'जीरो' की शूटिंग जून 2018 में पूरी की थी। इस हिसाब से वे करीब 870 दिन बाद नई फिल्म की शूटिंग शुरू कर रहे हैं।

फिल्म में जॉन-दीपिका भी होंगे

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस फिल्म में जॉन अब्राहम और दीपिका पादुकोण का भी अहम रोल होगा। दोनों जनवरी 2021 में शूटिंग शुरू करेंगे। यह दोनों की साथ में पहली फिल्म होगी। उनके बीच के एक्शन सीक्वेंस के लिए एक्शन डायरेक्टर परवेज शेख को हायर किया गया है, जो पहले 'वॉर', 'ब्रह्मास्त्र' और 'बेलबॉटम' जैसी फिल्मों के एक्शन सीन कोरियोग्राफ कर चुके हैं।

दो महीने का होगा पहला शेड्यूल

बताया जा रहा है कि सिद्धार्थ आनंद के निर्देशन में बन रही इस फिल्म की शूटिंग यश राज फिल्म स्टूडियो में शुरू होगी। मीडिया में आईं अपुष्ट खबरों के मुताबिक, फिल्म का पहला शेड्यूल करीब दो महीने का होगा, जिसमें पूरी तरह शाहरुख के पोर्शन पर ध्यान दिया जाएगा। सिद्धार्थ आनंद की पिछली फिल्म 'वॉर' की तरह यह भी एक रिवेंज ड्रामा होगी। फिल्म अगले साल अक्टूबर या जनवरी 2022 में रिलीज होती है।

 

693 करोड़ रुपए खर्च होंगे:असम में बनेगा भारत का पहला मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क, 20 लाख रोजगार पैदा होंगे

   

       इस पार्क को केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी 'भारत माला' परियोजना के तहत बनाया जा रहा है।

  • केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने किया पार्क का शिलान्यास
  • सड़क, रेल, हवाई और जलमार्ग से जुड़ने से बढ़ेगा व्यापार

असम में देश के पहले मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क का निर्माण किया जाएगा। इस पार्क की रेल, सड़क, हवाई और जलमार्ग से सीधी कनेक्टिविटी होगी। मंगलवार को केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने इस लॉजिस्टिक पार्क का शिलान्यास किया।

693 करोड़ रुपए की लागत से होगा निर्माण

इस लॉजिस्टिक पार्क के निर्माण पर करीब 693 करोड़ रुपए की लागत आएगी। इस पार्क से हवाई, सड़क, रेल और जलमार्ग से जुड़ने से लोगों का आवागमन होने के साथ सामानों का परिवहन भी हो सकेगा। इस पार्क को केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी 'भारत माला' परियोजना के तहत बनाया जा रहा है। असम में इस पार्क के बनने से बांग्लादेश, भूटान, नेपाल और म्यांमार के साथ व्यापार बढ़ेगा। साथ ही व्यापार लागत में दस प्रतिशत की कमी आएगी।

असम में स्थानीय एवं क्षेत्रीय के व्यापार को बढ़ावा मिलेगा

असम में स्थानीय एवं क्षेत्रीय स्तर के व्यापार को बढ़ावा मिलेगा। लॉजिस्टिक पार्क में कार्गो, वेयर हाउसिंग, रख-रखाव से संबंधित सेवाएं होंगी। सभी मौसम में स्टोरेज की सुविधा होगी। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि यह लॉजिस्टिक पार्क 20 लाख रोजगार पैदा करेगा और आर्थिक प्रगति का ग्रोथ इंजन बनेगा। गडकरी ने लॉजिस्टिक पार्क के निर्माण की शुरुआत का श्रेय मुख्यमंत्री सबार्नंद सोनोवाल को दिया।

अंतरराष्ट्रीय स्तर का होगा पार्क

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह अंतरराष्ट्रीय स्तर का पार्क होगा। उन्होंने मुख्यमंत्री से आसपास के जिलों में इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट की दिशा में कार्य करने का सुझाव दिया। वर्चुअल माध्यम से आयोजित इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री सबार्नंद सोनोवाल, केंद्रीय राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह, डॉ. वी.के. सिंह, रामेश्वर तोली और सभी सांसद और विधायक मौजूद रहे।

 

Popular Posts

डीयू एडमिशन 2020:दूसरी कट ऑफ लिस्ट के तहत पहले दिन 9785 स्टूडेंट्स ने एडमिशन के लिए किया आवेदन, 2580 को एडमिशन के लिए मिली मंजूरी

  दिल्ली यूनिवर्सिटी में दूसरी कट ऑफ के तहत पहले दिन हुए एडमिशन प्रोसेस के लिए 9,700 से ज्यादा स्टूडेंट्स ने अप्लाय किया। इस बारे में यूनि...