तेलंगाना में पावर प्लांट में आग लगी:रेस्क्यू टीम ने 10 लोगों को निकाला, 9 के फंसे होने की आशंका; श्रीसैलम के प्लांट में शॉर्ट सर्किट की वजह से बीती रात आग लगी थी

 

  • कृष्णा नदी पर बनाया गया श्रीसैलम डैम तेलंगाना और आंध्र प्रदेश की सीमा पर है
  • जो फिलहाल अंदर फंसे हैं, उनमें से 6 टीएस जेंको और 3 एक अन्य प्राइवेट कंपनी के कर्मचारी हैं

तेलंगाना के श्रीसैलम स्थित टीएस जेंको पावर प्लांट में गुरुवार रात आग लग गई। फिलहाल हादसे की वजह शार्ट सर्किट बताई जा रही है। 10 लोगों को बचा लिया गया है, जिसमें से 6 का अस्पताल में इलाज चल रहा है। प्लांट के अंदर अभी भी 9 लोगों के फंसे होने की आशंका है।

मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने कहा है कि लगातार अपडेट ले रहे हैं। मंत्री जगदीश्वर रेड्डी और ट्रांसको-जेंको कंपनी के सीएमडी डी प्रभाकर राव से बात की है। वे दोनों मौके पर हैं।

प्लांट में धुआं भर जाने की वजह से रेस्क्यू में परेशानी रही है।

तेलंगाना के मंत्री जी जगदीश्वर रेड्डी ने बताया कि हादसा गुरुवार रात करीब 10.30 बजे हुआ। 10 लोगों को बाहर निकाल लिया गया था। पावर सप्लाई भी बंद कर दी गई थी। हम सिंगारेनी कोल माइंस से मदद लेने की कोशिश कर रहे हैं, क्योंकि वे इस स्थिति पर काबू पाने में मददगार साबित हो सकते हैं। अंदर फंसे लोगों को निकालना हमारी प्राथमिकता है।

प्लांट में काफी धुआं भर गया
आग लगने के बाद प्लांट में काफी धुआं भर गया। इसकी वजह से बचाव अभियान में मुश्किल रही है। बताया जा रहा है कि हादसे के वक्त प्लांट में 17 लोग थे। जो लोग फिलहाल अंदर फंसे हैं, उनमें 6 जेंको और 3 एक अन्य प्राइवेट कंपनी के कर्मचारी हैं। फंसे लोगों में डिप्टी और असिस्टेंट इंजीनियर्स भी शामिल हैं। मंत्री जगदीश्वर रेड्डी और जेंको को सीएमडी प्रभाकर राव ने मौके पर जाकर रेस्क्यू ऑपरेशन का जायजा लिया।

श्रीसैलम डेम कृष्णा नदी पर है, जो आंध्र प्रदेश और तेलंगाना की सीमा पर स्थित है।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

अमेरिका-चीन फाइट:अमेरिका ने चीन की चिप निर्माता और ऑयल कंपनियों को ब्लैकलिस्ट किया, प्रतिबंधित कंपनियों की संख्या 35 पर पहुंची

  पेंटागन द्वारा ब्लैकलिस्टेड 4 नई कंपनियों में सेमीकंडक्टर मैन्यूफैक्चरिंग इंटरनेशनल कॉरपोरेशन और चाइना नेशनल ऑफशोर ऑयल कॉरपोरेशन के नाम ...