परीक्षा विवाद:10 दिन बाद जेईई, लाखों छात्र विरोध कर रहे, पर मिनिस्ट्री परीक्षा स्थगित करने के पक्ष में नहीं

 

                            प्रतीकात्मक फोटो।

  • स्टूडेंट्स पेरेंट्स के साथ ही नेता भी विरोध के पक्ष में, ट्विटर पर चल रहा बड़ा आंदोलन
  • दोनों परीक्षाओं में 25 लाख छात्र बैठेंगे, अगर परीक्षाएं टली तो अगले साल प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी

(पूजा शर्मा) सितंबर में होने वाली जेईई मेन और नीट परीक्षाओं में अब बहुत कम वक्त बचा है। लेकिन दोनों परीक्षाओं को लेकर छात्रों का विरोध चरम पर है। कल दिन भर ट्विटर पर 16 लाख ट्वीट्स के साथ #ProtestAgainstExams InCOVID ट्रेंड करता रहा। इसके साथ #NEETJEE भी खूब ट्रेंड हुआ। हालांकि कोविड के चलते सेहत सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए सोशल मीडिया पर कई कैंपेन महीनों से चल रहे हैं। लेकिन इनका कोई असर होने पर हाल में 11 राज्यों के 11 छात्रों ने परीक्षाएं स्थगित करने के अनुरोध के साथ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी, जिसे सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया था।

लेकिन इसके बावजूद छात्रों का विरोध रुका नहीं है। ऑल इंडिया स्टूडेंट एसोसिएशन और स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया समेत कई स्टूडेंट एसोसिएशन, स्टूडेंट्स, वकील, सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ-साथ कई पॉलिटिकल लीडर्स भी इस विरोध में शामिल हुए हैं। चिराग पासवान, तेजस्वी यादव ने भी इस पर ट्वीट किए हैं।

इतना ही नहीं बीजेपी एमपी सुब्रमण्यम स्वामी ने भी परीक्षाओं को आगे बढ़ाने के बारे में ट्वीट करके लिखा है, मैंने शिक्षा मंत्री से बात करके उन्हें लिखा हैं कि नीट अन्य एग्जाम्स दीपावली के बाद हों। शिक्षा मंत्री इसे लेकर आपात मीटिंग कर रहे हैं। मैंने पीएम को भी पत्र लिखा है। प्रवेश परीक्षाओं को लेकर दायर याचिका में छात्रों का पक्ष रख रहे वरिष्ठ अधिवक्ता अलख आलोक श्रीवास्तव ने भी प्रधानमंत्री और शिक्षा मंत्री से इन परीक्षाओं को स्थगित करने की अपील की है।

परीक्षा निश्चित समय पर करवाने के लिए भी याचिका दायर
इस विरोध के बीच छात्रों का दूसरा समूह परीक्षाएं समय पर करवाने की अपील कर रहा है। इस सिलसिले में एक पेरेंट्स एसोसिएशन ने भी परीक्षा को समय पर करवाने की अपील करते हुए एससी में याचिका दायर की है। उनका कहना है कि परीक्षा स्थगित होने पर छात्रों का एक साल बर्बाद होगा और उन्हें कॅरिअर में आगे भी नुकसान उठाना पड़ेगा।

6.50 लाख स्टूडेंट्स डाउनलोड कर चुके हैं एग्जाम एडमिट कार्ड
जेईई मेन एडमिट कार्ड रिलीज कर दिए गए हैं। 8.58 लाख में से 6.49 लाख स्टूडेंट्स अब तक एडमिट कार्ड डाउनलोड कर चुके हैं। 99.07 प्रतिशत छात्रों को पसंद के टेस्ट सेंटर्स दिए जा चुके हैं। परीक्षा की एसओपी के अनुसार एग्जामिनेशन हाल को सैनिटाइज करना होगा। छात्र का तापमान 99.4 डिग्री फारेनहाइट से अधिक होेने पर उसे आइसोलेशन में ले जाया जाएगा।

क्यों स्थगित नहीं किए जा रहे हैं एग्जाम्स
दोनों परीक्षाओं में 25 लाख छात्र बैठेंगे। विशेषज्ञों के मुताबिक, अगर परीक्षाएं टलती हैं तो अगले साल प्रतिस्पर्धा ज्यादा होगी। इस साल एनरोल्ड छात्रों के साथ ही 2021 में नए छात्र जुड़ने से संख्या बढ़ जाएगी। जेईई आगे बढ़ने पर जनवरी 2021 जेईई-1 को भी आगे बढ़ाने की नौबत सकती है।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

फीचर आर्टिकल:अब घर बैठे दवाई मंगवाना और डॉक्टर से परामर्श लेना हुआ बेहद आसन

  आज का दौर डिजिटाइजेशन का है, जिसमें अधिकतर काम ऑनलाइन, घर बैठे चंद मिनटों में आसानी से हो जाते हैं। चाहे भी फिर कपड़े खरीदना हो, किसी को...