रैना ने रायडू की तारीफ की:सुरेश रैना ने कहा- अगर रायडू 2019 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया का हिस्सा होते तो भारत जरूर खिताब जीतता

 

अंबाती रायडू ने पिछले साल वर्ल्ड कप में मौका नहीं मिलने के बाद संन्यास की घोषणा कर दी थी, लेकिन बाद में उन्होंने रिटायरमेंट से वापसी कर ली। -फाइल

  • सुरेश रैना ने कहा- अंबाती रायडू ने 4 नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए अच्छा प्रदर्शन किया था, फिर भी 2019 की वर्ल्ड कप टीम में उन्हें मौका नहीं मिला
  • पिछले साल वर्ल्ड कप स्क्वॉड में अंबाती रायडू को रिजर्व में रखकर ऑलराउंडर विजय शंकर को मौका दिया गया था

इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लेने वाले सुरेश रैना का मानना है कि अगर अंबाती रायडू 2019 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया का हिस्सा होते, तो भारत जरूर खिताब जीत जाता। उन्होंने कहा कि रायडू वर्ल्ड कप से पहले चार नंबर पर अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे, फिर भी उन्हें नहीं चुना गया। रैना ने क्रिकेट वेबसाइट क्रिकबज से यह कहा।

रैना ने कहा कि मैं चाहता था कि रायडू भारत के नंबर चार बल्लेबाज रहें, क्योंकि वो कड़ी मेहनत कर रहे थे। उन्हें जितने भी मौके मिले, उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया। इसके बाद भी उन्हें वर्ल्ड कप टीम में मौका नहीं मिला। मैं भी 2018 के इंग्लैंड दौरे का मजा नहीं उठा पाया, क्योंकि रायडू के फिटनेस टेस्ट में फेल होने के बाद अजीब सा माहौल बन गया था। मुझे अच्छा नहीं लग रहा था कि, क्योंकि उनकी जगह मुझे चुना गया था।

रायडू 4 नंबर पर अच्छा खेल रहे थे: रैना

इस बाएं हाथ के बल्लेबाज ने आगे कहा कि रायडू नंबर-4 पर अच्छा खेल रहे थे और अगर वे वर्ल्ड कप स्क्वॉड का हिस्सा होते, तो टीम इंडिया वर्ल्ड कप जीत सकती थी। रायडू टीम मैनेजमेंट के लिए 4 नंबर पर सबसे बेहतर विकल्प थे, क्योंकि वे आईपीएल में भी चेन्नई टीम के लिए इसी नंबर पर अच्छा खेल रहे थे।

वर्ल्ड कप में रायडू की जगह विजय शंकर को मौका दिया गया था

पिछले साल वर्ल्ड कप स्क्वॉड में रायडू को रिजर्व में डालकर युवा ऑलराउंडर विजय शंकर को मौका दिया गया था। शंकर को चुनने के पीछ एमएसके प्रसाद की अगुआई वाली सिलेक्शन कमेटी ने उन्हें 3 डी प्लेयर यानी बल्लेबाज, गेंदबाज और फील्डर बताया था। इस पर रायडू ने ट्वीट किया था कि मैंने वर्ल्ड कप देखने के लिए 3-डी ग्लासेस खरीद लिए हैं।

रायडू ने रिटायरमेंट की घोषणा कर दी थी

वर्ल्ड कप में शिखर धवन और विजय शंकर के चोटिल होने के बाद भी रायडू को मौका नहीं दिया गया। उन्हें नजरअंदाज करते हुए ऋषभ पंत को चुना गया था। लेकिन वो भी 4 नंबर पर अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए। यही पोजिशन वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की कमजोर कड़ी साबित हुई। इस फैसले के बाद रायडू ने संन्यास का ऐलान कर दिया था, हालांकि बाद में उन्होंने रिटायरमेंट से वापसी की।

रायडू ने 4 नंबर पर 41 से ज्यादा की औसत से रन बनाए

रायडू ने 55 वनडे में 47.05 की औसत से 1694 रन बनाए हैं। इसमें तीन शतक हैं। उन्होंने वर्ल्ड कप से एक साल पहले 11 वनडे में 56 की औसत से 392 रन बनाए थे। वहीं, 2019 में उनका औसत गिर गया और उन्होंने 10 मैच में 30.87 की औसत से 247 रन बनाए। रायडू ने 55 में से 27 वनडे में चार नंबर पर बल्लेबाजी की और 41.66 की औसत से 750 रन बनाए।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

हफ्ते का स्टॉक:गिरावट में अच्छी क्वालिटी वाले शेयरों में करते रहिए निवेश, मिल सकता है बेहतर फायदा

  निवेशकों के लिए बाजार की इस उंचाई में भी मौका है। अगर किसी क्वालिटी वाले शेयरों में गिरावट आती है तो निवेशकों को खरीदना चाहिए रिलायंस सिक्...