कांग्रेस में कलह:अनिल शास्त्री ने कहा- सोनिया, राहुल नेताओं से मिलना शुरू कर दें तो 50% समस्या खत्म हो जाएगी, सिब्बल बोले- पद नहीं देश मायने रखता है

 

राहुल गांधी के 'भाजपा से मिलीभगत' के बयान पर कपिल सिब्बल नाराज हो गए थे। उन्होंने कहा था कि मैंने 30 साल में कभी भाजपा के पक्ष में बयान नहीं दिया। बाद में उन्होंने अपना ट्वीट हटा लिया था। -फाइल फोटो

  • कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में सोमवार को नेतृत्व में परिवर्तन को लेकर हंगामा हुआ
  • पिछले दिनों 5 पूर्व मुख्यमंत्रियों समेत 23 नेताओं ने सोनिया को चिट्ठी लिखी थी
  • सीडब्ल्यूसी में राहुल गांधी ने चिट्ठी पर नाराजगी जताई थी और भाजपा से मिलीभगत का आरोप लगाया था

कांग्रेस में नेतृत्व परिवर्तन पर जारी घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है। पार्टी के नेता अब खुलकर बोलने लगे हैं। कांग्रेस नेता अनिल शास्त्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व में कुछ चीजों की कमी है। सबसे महत्वपूर्ण यह है कि बैठकें पार्टी के नेताओं के बीच नहीं होती हैं। अगर एक अलग राज्य का कोई पार्टी नेता दिल्ली आता है, तो उसके लिए यहां पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मिलना आसान नहीं है।

उन्होंने कहा, 'सोनिया गांधी और राहुल गांधी जैसे सीनियर नेता पार्टी नेताओं से मिलना शुरू कर दें तो 50% समस्या खत्म हो जाएगी।' अनिल पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री के छोटे बेटे हैं।

कपिल सिब्बल ने कहा- यह बात पद की नहीं , देश की है

संजय झा ने कहा- अंत की शुरुआत है
कांग्रेस से निलंबित नेता संजय झा ने आज ट्वीट कर तंज कसा। उन्होंने कहा कि यह अंत की शुरुआत है।' संजय ने कुछ दिन पहले कहा था कि कांग्रेस के 100 से ज्यादा नेताओं ने लीडरशिप में बदलाव को लेकर सोनिया को चिट्ठी लिखी है। हालांकि, कांग्रेस ने उस वक्त इससे इनकार कर दिया था।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

सरकारी नौकरी:UPSC ने CISF में भर्ती के लिए जारी किया नोटिफिकेशन, 22 दिसंबर तक आवेदन कर सकते हैं ग्रेजुएशन डिग्री होल्डर

 यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन (UPSC) ने सेंट्रल इंडस्ट्रिरीयल सिक्योरिटी फोर्स (CISF) में सहायक कमांडेंट (कार्यकारी) के पदों पर भर्ती के लिए...