लद्दाख में सीमा विवाद:भारत-चीन के बीच आज जॉइंट सेक्रेटरी लेवल की बातचीत होगी; चीन कई इलाकों में पीछे नहीं हट रहा

 

17 अगस्त की फोटो कुल्लू-मनाली-लेह हाइवे की है। लद्दाख में तैनात जवानों के लिए सेना के ट्रक सैन्य सामग्री ले जाते हुए।

  • पूर्वी लद्दाख के फिंगर एरिया, देप्सांग और गोगरा में चीन के सैनिक 3 महीने से जमे हैं
  • चीन ने फिंगर एरिया में बंकर और दूसरे अस्थायी कंट्रक्शन भी शुरू किए

लद्दाख में सीमा विवाद के बीच भारत-चीन आज फिर बातचीत करेंगे। वर्किंग मैकेनिज्म फॉर कंसल्टेशन एंड को-ऑर्डिनेशन (WMCC) की 18वीं मीटिंग में दोनों देशों के जॉइंट सेक्रेटरी लेवल के अधिकारी शामिल होंगे। बैठक में पूर्वी लद्दाख में डी-एस्क्लेशन यानी सैन्य उपकरण और ठिकानों को हटाने पर सहमति बनाने की कोशिश की जाएगी। चीन कई विवादित इलाकों में पीछे नहीं हट रहा है।

पिछली बैठक की सहमति के बावजूद चीन का अड़ियल रवैया
डब्ल्यूएमसीसी की 17वीं बैठक पिछले महीने हुई थी। उसमें दोनों देश इस बात पर राजी हुए थे कि लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर पूरी तरह डिसएंगेजमेंट यानी सैनिकों को पीछे हटाने की प्रोसेस जल्द पूरी कर ली जाएगी। इस बात पर भी सहमति बनी थी कि रिश्ते सुधारने के लिए एग्रीमेंट और प्रोटोकॉल के मुताबिक बॉर्डर के इलाकों में डी-एस्क्लेशन कर पूरी तरह शांति रखना जरूरी है।

चीन 3 इलाकों से पीछे नहीं हट रहा
आर्मी और डिप्लोमैटिक लेवल की कई राउंड की बातचीत के बावजूद चीन पूर्वी लद्दाख के फिंगर एरिया, देप्सांग और गोगरा इलाकों से पीछे नहीं हट रहा। चीन के सैनिक 3 महीने से फिंगर एरिया में जमे हुए हैं। अब उन्होंने बंकर बनाने और दूसरे अस्थायी निर्माण करने भी शुरू कर दिए हैं।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

CRPF PET 2020:CRPF ने जारी की फिजिकल एग्‍जाम की तारीख, 789 पदों पर भर्ती के लिए 14 दिसंबर को होगी परीक्षा

  सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स (CRPF) ने सब इंस्‍पेक्‍टर, इंस्‍पेक्‍टर, हेड कांस्‍टेबल समेत अन्‍य पदों पर भर्ती के लिए फिजिकल एग्‍जाम की डेट...