संक्रमितों की जान बचाने का संकल्प:असम के भाजपा विधायक अमीनुल प्लाज्मा डोनेट करने वालों के पैर धो रहे हैं, ताकि उन्हें प्रोत्साहित कर कोरोना संक्रमितों की जान बचाई जा सके

 

         प्लाज्मा डोनेट करने वाले नाबिदुल इस्लाम के पैर धोते भाजपा विधायक अमीनुल।

  • अमीनुल हक असम के इकलौते मुस्लिम विधायक हैं, जो प्लाज्मा थैरेपी की मदद से कोरोना को हराकर लौटे हैं
  • उन्होंने संक्रमण से ठीक हुए मरीजों से मिलने और उनके पैर धोकर सम्मानित करने का फैसला किया

असम विधानसभा के डिप्टी स्पीकर और भाजपा विधायक अमीनुल हक लश्कर प्लाज्मा डोनेट करने वालों से मिलने उनके घर जा रहे हैं। साथ ही डोनर के पैर धोकर उनका शुक्रिया अदा कर रहे हैं। दरअसल, असम में भाजपा के एकमात्र मुस्लिम विधायक लश्कर हाल ही में कोरोना संक्रमण से पूरी तरह ठीक हुए हैं। इसलिए अब वे लोगों को प्लाज्मा डोनेट करने के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं।

हाल ही में लश्कर काछार जिले के सोनाई इलाके में प्लाज्मा डोनेट करने वाले नाबिदुल इस्लाम के घर पहुंचे। यहां उन्होंने नाबिदुल को एक स्मृति चिह्न भेंटकर सम्मानित किया। इसके बाद नाबिदुल के पैर धोकर कहा- ‘‘मैं हमेशा आपका ऋणी रहूंगा। मैं जीवित रहने और कोरोना से लड़ने में कामयाब रहा, क्योंकि कोई प्लाज्मा दान करने के लिए राजी हो गया था। मैं प्लाज्मा डोनेट करने वाले सभी लोगों का कर्जदार हूं। इस कारण मैंने उनसे मिलने और उनके पैर धोकर सम्मानित करने का फैसला किया है।’’

उन्होंने कहा- सिल्चर मेडिकल कॉलेज में प्लाज्मा थैरेपी से ठीक होने वाला मैं पहला कोरोना मरीज था। अब मुझे ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्लाज्मा दान करने के लिए प्रोत्साहित करना है ताकि लोगों की जान बचाई जा सके।

ज्यादा से ज्यादा लोग प्लाज्मा डोनेट करें

अमीनुल हक ने कहा, ‘‘सिल्चर मेडिकल कॉलेज में कोरोना संक्रमण से अब तक 125 लोग ठीक हुए हैं, लेकिन 18 साल की उम्र से 55 साल के व्यक्ति ही प्लाज्मा दान कर सकते हैं। हालांकि, प्लाज्मा दान करने को लेकर लोगों में जागरूकता की कमी है इसलिए मैं अपनी तरफ से पूरी कोशिश करूंगा कि ज्यादा से ज्यादा लोग इस मानव सेवा में अपना योगदान दें।’’

प्लाज्मा से लोगों के स्वास्थ्य में सुधार

प्लाज्मा डोनर नाबिदुल इस्लाम कहते हैं- ‘‘मैं एक आम आदमी हूं। यह सोच भी नहीं सकता कि मेरे एक छोटे से योगदान के लिए एक विधानसभा के डिप्टी स्पीकर मेरे पैर धोएंगे। मैं उनकी इस अद्भुत कोशिश के लिए आभारी हूं। इससे हम सबको अच्छा काम करने की प्रेरणा मिलेगी।’’

देश के कई राज्यों में कोरोना मरीजों का प्लाज्मा थैरेपी से इलाज किया जा रहा है। दावा है कि प्लाज्मा से लोगों के स्वास्थ्य में सुधार देखने को मिल रहा है।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

MP NHM CHO 2020:कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर के पदों पर भर्ती के लिए होने वाली परीक्षा का एडमिट कार्ड जारी, 6 दिसंबर को 3800 पदों के लिए होगा एग्जाम

  मध्य प्रदेश नेशनल हेल्थ मिशन में कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर के पदों पर भर्ती के लिए होने वाली परीक्षा के एडमिट कार्ड जारी कर दिए गए हैं। मध्य...