सवाल:एचडीएफसी बैंक पर निवेशकों को भ्रामक जानकारी देने का आरोप, मुकदमा दर्ज कराने की तैयारी में अमेरिका की दो लॉ फर्म

 

एचडीएफसी बैंक ने इस पूरे मामले पर अनभिज्ञता जताई है। बैंक का कहना है कि हम सभी मामलों के खुलासों में पूरी पारदर्शिता बरत रहे हैं।

  • एचडीएफसी बैंक पर निवेशकों को लगातार तीन महत्वपूर्ण जानकारी ना देने का आरोप लगाया
  • व्हीकल लोन की जांच से बैंक के अमेरिकी डिपॉजिटरी शेयरों में 2.83% की गिरावट आई थी

देश के प्रमुख निजी बैंक एचडीएफसी बैंक पर अपने निवेशकों को भ्रामक जानकारी देने का आरोप लगा है। अमेरिकी लॉ फर्म शैल लॉ फर्म और रॉसेन लॉ फर्म ने यह आरोप लगाया है। अब यह दोनों लॉ फर्म निवेशकों की तरफ से एचडीएफसी बैंक पर सिक्योरिटी क्लास एक्शन फाइल करने पर विचार कर रही है।

एचडीएफसी बैंक पर लगातार सूचना नहीं देने का आरोप

दोनों अमेरिकी लॉ फर्मों ने एचडीएफसी बैंक पर निवेशकों को लगातार महत्वपूर्ण सूचना नहीं देने का आरोप लगाया है। फर्मों ने कहा है कि बैंक ने अपने निवेशकों को तीन महत्वपूर्ण सूचनाएं नहीं दी हैं जिसमें व्हीकल लोन की जांच, आरबीआई को लोन की जानकारी देने में देरी और कम नेट प्रॉफिट शामिल है। लॉ फर्मों ने इन तीनों जानकारी पर सवाल उठाया है।

एचडीएफसी बैंक ने जताई अनभिज्ञता

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एचडीएफसी बैंक का कहना है कि हम इस मामले से अनभिज्ञ हैं। बैंक का कहना है कि अभी इस बारे में मीडिया रिपोर्ट्स से ही जानकारी मिली है। हम पूरी जानकारी ले रहे हैं। बैंक का कहना है कि हम इस मामले का परीक्षण करेंगे और उचित जवाब देंगे। प्राथमिक स्तर पर यह तुच्छ हरकत लग रही है क्योंकि हम सभी प्रकार के खुलासों में पूरी पारदर्शिता बरत रहे हैं।

वाहन लोन जांच मामले की जानकारी ने देने से गिरे शेयर

रॉसेन लॉ फर्म ने बयान में कहा है कि एचडीएफसी बैंक ने व्हीकल लोन जांच मामले की जानकारी निवेशकों को नहीं दी थी। इस मामले में मीडिया में खबरें सामने आने के बाद 13 जुलाई को एचडीएफसी बैंक की अमेरिकन डिपॉजिटरी के शेयरों में 1.37 डॉलर प्रति शेयर की गिरावट दर्ज की गई थी। रॉसेन लॉ फर्म ने पिछले साल इन्फोसिस के खिलाफ भी क्लास एक्शन लॉसूट दाखिल किया था। एक व्हिसब्लोअर ग्रुप ने इन्फोसिस पर शॉर्ट टर्म रेवेन्यू और प्रॉफिट बढ़ाने के लिए अनैतिक कदम उठाने का आरोप लगाया था। इसके बाद यह लॉसूट दाखिल किया गया था।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

इतिहास में आज:जब दुनिया के किसी मुस्लिम देश में पहली बार चुनी गई महिला प्रधानमंत्री, सिर्फ 35 साल थी उनकी उम्र

  हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान में आज ही के दिन कोई महिला प्रधानमंत्री बनी थी। ये न सिर्फ पाकिस्तान की पहली महिला प्रधानमंत्री थीं, बल्कि कि...