सत्यपाल मलिक मेघालय के गवर्नर होंगे:एक साल में तीसरे राज्य की जिम्मेदारी दी गई, जम्मू-कश्मीर के बाद गोवा और अब मेघालय के राज्यपाल होंगे

 

मलिक को 2018 में कुछ महीनों के लिए ओडिशा का अतिरिक्त प्रभार भी दिया गया था। -फाइल फोटो

  • महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को गोवा का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है
  • जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया गया, तब मलिक वहां के राज्यपाल थे

गोवा के राज्यपाल सत्यपाल मलिक को मेघालय का राज्यपाल बनाया गया है। महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को गोवा का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। मोदी कैबिनेट के इस फैसले पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मुहर लगा दी है। मलिक का एक साल में यह उनका तीसरा तबादला है। अभी वे गोवा के राज्यपाल हैं। इससे पहले वे जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल रहे।

मलिक ने 23 अगस्त 2018 को जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल का पद संभाला था। वे 30 अक्टूबर 2019 तक यहां रहे। 3 नवंबर 2019 को उन्होंने गोवा के राज्यपाल के रूप में शपथ ली। अब उन्हें मेघालय की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

अनुच्छेद 370 हटा तब जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल थे
पिछले साल 5 अगस्त को केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को खत्म किया था। इस दौरान मलिक राज्य के गवर्नर थे। केंद्र ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेश बनाया, यह फैसला 31 अक्टूबर से लागू हुआ था।

2018 में मलिक को ओडिशा का अतिरिक्त प्रभार भी मिला
मलिक को 2018 में कुछ महीनों के लिए ओडिशा का अतिरिक्त प्रभार भी दिया गया था। सत्यपाल मलिक ने 1989 से 1991 तक अलीगढ़ संविधान सभा का प्रतिनिधित्व किया है। वह 1980-86 और 1986-1992 तक उत्तर प्रदेश से राज्यसभा के सदस्य रहे।

 

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

फीचर आर्टिकल:अब घर बैठे दवाई मंगवाना और डॉक्टर से परामर्श लेना हुआ बेहद आसन

  आज का दौर डिजिटाइजेशन का है, जिसमें अधिकतर काम ऑनलाइन, घर बैठे चंद मिनटों में आसानी से हो जाते हैं। चाहे भी फिर कपड़े खरीदना हो, किसी को...