आर्थिक सुधार की तरफ कदम:वैश्विक मैन्यूफैक्चरर्स को लुभाने के लिए 1.7 लाख करोड़ का प्रोत्साहन पैकेज ला सकती है मोदी सरकार

 

   यह प्रोत्साहन कार्यक्रम, देश की नीति नियोजन संस्था द्वारा संचालित किया जा रहा है। (फाइल फोटो)

  • माेदी सरकार देश में विनिर्माण इकाइयां स्थापित करने के लिए वैश्विक कंपनियों को आकर्षित करना चाहती है
  • कपड़ा इकाइयों, खाद्य प्रसंस्करण संयंत्रों और विशेष फार्मा उत्पाद निर्माताओं को भी योजना के तहत देश में लाने पर विचार किया जा रहा है

(अभिजीत राॅय चौधरी) देश में मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर को रफ्तार देने के लिए केंद्र सरकार और कदम उठाने जा रही है। मामले से जुड़े जानकारों ने बताया कि माेदी सरकार देश में विनिर्माण इकाइयां स्थापित करने के लिए वैश्विक कंपनियों को आकर्षित करना चाहती है। इसके लिए वह 1.68 लाख करोड़ रुपए (23 अरब डॉलर) का प्रोत्साहन पैकेज लाने की तैयारी कर रही है।

ब्लूमबर्ग को मिले दस्तावेजों से पता लगता है कि सरकार ऑटोमोबाइल, सौर पैनल निर्माताओं और उपभोक्ताओं से जुड़े इस्पात के उपकरण बनाने वाली कंपनियों को प्रोत्साहन की पेशकश करेगी। इसके साथ ही कपड़ा इकाइयों, खाद्य प्रसंस्करण संयंत्रों और विशेष फार्मा उत्पाद निर्माताओं को भी योजना के तहत देश में लाने पर विचार किया जा रहा है। यह प्रोत्साहन कार्यक्रम, देश की नीति नियोजन संस्था द्वारा संचालित किया जा रहा है।

इसी ने इस साल के शुरू में चीन से बाहर अपने प्लांट लगाने का सोच रहीं कंपनियों को आकर्षित किया था। इनमें सैमसंग इलेक्ट्रॉनिक्स, फॉक्सकॉन के रूप में जानी जाने वाली होन हाई प्रीसिजन इंडस्ट्री आदि शामिल हैं।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

किसान आंदोलन की 10 फोटो:कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब-हरियाणा में तनाव, पुलिस ने दिल्ली जाने से रोका तो किसान सड़कों पर ही बैठ गए

  केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब और हरियाणा के हजारों किसान दिल्ली के लिए रवाना हुए हैं। फोटो करनाल के समाना बाहू इलाके की है। केंद...