काशी में लगा विवादित पोस्टर:उद्धव ठाकरे की दुशासन से तुलना, कंगना रनोट को द्रौपदी तो पीएम मोदी को भगवान श्रीकृष्ण बताया

 

                       पोस्टर को लगाने वाले वकील भाजपा से जुड़े हुए हैं।

  • भाजपा से जुड़े वकील ने लगाया पोस्टर, इसमें संजय राउत को भी दर्शाया गया
  • वकील बोले- कंगना ने महिलाओं की आवाज बुलंद की, हम सभी उनके साथ

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनोट और शिवसेना में तनातनी के बीच काशी के वकील श्रीपति मिश्रा ने नया विवाद खड़ा कर दिया है। अधिवक्ता ने संपूर्णानंद इलाके में दीवार पर पोस्टर चस्पा किया है।

पोस्टर में कंगना को द्रोपदी और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को दुशासन के रूप में दर्शाया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भगवान कृष्ण के रूप में दर्शाया गया है। पोस्टर में उद्भव कंगना का चीरहरण कर रहे हैं, तो पीएम मोदी उनकी रक्षा कर रहे हैं। दरबार में संजय राउत को भी बैठा दर्शाया गया है। हालांकि, बाद में यह पोस्टर हटा दिया गया।

भाजपा से जुड़े वकील श्रीपति ने कहा कि कंगना ने अपने आप को जोखिम में डालकर हर महिला की आवाज बुलंद की है। शिवसेना की सरकार ने कंगना के दफ्तर को तोड़ दिया। ऐसी कार्यवाही किसी महिला के विरुद्ध द्वेषपूर्ण हैं। हम सभी का कंगना के साथ हैं।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

इतिहास में आज:जब दुनिया के किसी मुस्लिम देश में पहली बार चुनी गई महिला प्रधानमंत्री, सिर्फ 35 साल थी उनकी उम्र

  हमारे पड़ोसी देश पाकिस्तान में आज ही के दिन कोई महिला प्रधानमंत्री बनी थी। ये न सिर्फ पाकिस्तान की पहली महिला प्रधानमंत्री थीं, बल्कि कि...