रेप के आरोपों पर अनुराग कश्यप की सफाई:फिल्ममेकर ने बयान जारी कर खुद को निर्दोष बताया, बोले- तब मैं भारत में नहीं था, आरोपों का मकसद मुझे बदनाम करना

 

रेप मामले में हुई पुलिस पूछताछ के एक दिन बाद फिल्म मेकर अनुराग कश्यप की ओर से उनकी वकील प्रियंका खिमानी ने एक बयान जारी किया है। जिसमें अनुराग पर लगे सभी आरोपों को गलत और आधारहीन बताया गया है। बयान के मुताबिक एक्ट्रेस ने अगस्त 2013 में जब तथाकथित घटना होना बताई है, तब अनुराग देश से बाहर थे और श्रीलंका में फिल्म की शूटिंग कर रहे थे।

स्टेटमेंट में कहा गया है कि कश्यप ने अपने दावे से जुड़े सभी जरूरी कागजात जांच अधिकारियों के पास जमा करा दिए हैं। इससे पहले गुरुवार को मुंबई के वर्सोवा थाने में अनुराग से करीब 8 घंटों तक पूछताछ हुई थी। वे सुबह 10 बजे पुलिस स्टेशन पहुंचे थे और शाम को 6 बजे के बाद वहां से निकले थे।

अगस्त 2013 में श्रीलंका में थे कश्यप

वकील की ओर से जारी बयान में कहा गया, 'वर्सोवा पुलिस स्टेशन में दर्ज प्राथमिकी में एक्ट्रेस ने आरोप लगाया है कि अगस्त 2013 में मेरे क्लाइंट अनुराग कश्यप ने उन्हें अपने घर बुलाया था और उनका यौन शोषण किया था। मिस्टर कश्यप ने इस मामले में बतौर सबूत वे सभी जरूरी कागजात सौंप दिए हैं, जिनसे पता चलता है कि अगस्त 2013 में वे अपनी फिल्म की शूटिंग के सिलसिले में पूरे महीने श्रीलंका में थे।'

उन्होंने बताया, 'कश्यप ने स्पष्ट रूप से इनकार किया है कि कभी इस तरह की कोई घटना हुई भी थी और अपने खिलाफ लगाए गए सभी आरोपों से भी इनकार किया है।'

शिकायतकर्ता बदल सकती है कहानी

प्रियंका खिमानी ने स्टेटमेंट में आगे बताया, 'अगस्त 2013 में तथाकथित रूप से हुई इस घटना को लेकर अचानक और देरी से लगाए आरोपों को शिकायतकर्ता ने व्यापक रूप से प्रचारित किया है, जिसका मकसद अनुराग कश्यप को बदनाम करना है। अनुराग कश्यप को भरोसा है कि झूठी शिकायत की सच्चाई सबके सामने आकर रहेगी। ना केवल कश्यप द्वारा प्रस्तुत किए गए सबूतों से, बल्कि शिकायतकर्ता द्वारा मीडिया में बार-बार बदले गए घटनाक्रम के जरिए भी।'

'अनुराग कश्यप अब इस बात को लेकर आशंकित हैं कि अब जब शिकायतकर्ता द्वारा लगाए गए झूठे आरोपों को एफआईआर का आधार मिल गया है तो आगे जांच प्रक्रिया के दौरान वो घटनाओं के अपने क्रम को बदल भी सकती है।'

आरोपों से परेशान और व्यथित हैं कश्यप

बयान में आगे कहा गया, 'अनुराग कश्यप उन पर लगाए गए झूठे और धूर्तता से भरे आरोपों से व्यथित हैं। साथ ही इससे उन्हें, उनके परिवार और उनके प्रशंसकों को भी पीड़ा हुई है। अनुराग कश्यप अपने लिए उपलब्ध सभी कानूनी उपचारों का इस्तेमाल करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। अनुराग ने जोरदार तरीके से ऐसी किसी भी घटना के होने से इनकार किया है, साथ ही उन्होंने गलत उद्देश्यों की पूर्ति के लिए आपराधिक न्याय प्रणाली के दुरुपयोग और मीटू आंदोलन को हाईजैक करने को लेकर शिकायतकर्ता के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है। अनुराग कश्यप को भरोसा है कि न्याय जरूर होगा।'

गुरुवार को हुई थी 8 घंटे पूछताछ

इससे पहले इस मामले में अनुराग कश्यप से गुरुवार को 8 घंटे पूछताछ हुई थी। सूत्रों के मुताबिक पुलिस को दिए अपने बयान में अनुराग ने एक्ट्रेस पायल घोष के यौन शोषण के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। अनुराग ने कहा कि उन्होंने वर्सोवा स्थित घर पर पायल को कभी नहीं बुलाया। प्रोफेशनल तौर पर उनको जानता हूं। लेकिन काफी वक्त से बातचीत या मुलाकात नहीं हुई है।'

पूछताछ के दौरान अनुराग ने यह भी कहा कि जब उन्हें पता चला कि पायल ने उन पर आरोप लगाए हैं तो वे आश्चर्यचकित थे। उन्होंने पुलिस से कहा कि पायल के सारे आरोप झूठे और बेबुनियाद हैं। इनमें बिल्कुल भी सच्चाई नहीं है। ये मेरे खिलाफ साजिश है। हालांकि, जब पुलिस ने पूछा कि उनके खिलाफ कौन और क्यों साजिश करेगा। इस बारे में अनुराग स्पष्ट तौर पर कोई जवाब नहीं दे पाए।

मुंबई पुलिस ने जारी किया था अनुराग को समन

मंगलवार को मुंबई पुलिस ने अनुराग कश्यप को पूछताछ के लिए समन जारी किया था। पुलिस ने समन में उनसे कहा था कि बिना परमिशन मुंबई से बाहर नहीं जाएं। इससे पहले 22 सितंबर को एक्ट्रेस पायल घोष ने अनुराग के खिलाफ दुष्कर्म का केस दर्ज करवाया था। उनका आरोप है कि अनुराग ने 2013 में वर्सोवा में करी रोड की एक लोकेशन पर रेप किया था।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

अमेरिका-चीन फाइट:अमेरिका ने चीन की चिप निर्माता और ऑयल कंपनियों को ब्लैकलिस्ट किया, प्रतिबंधित कंपनियों की संख्या 35 पर पहुंची

  पेंटागन द्वारा ब्लैकलिस्टेड 4 नई कंपनियों में सेमीकंडक्टर मैन्यूफैक्चरिंग इंटरनेशनल कॉरपोरेशन और चाइना नेशनल ऑफशोर ऑयल कॉरपोरेशन के नाम ...