कश्मीर में आतंकी हमला:भाजपा नेता पर आतंकी हमला, उन्हें बचाने में कॉन्सटेबल अल्ताफ हुसैन शहीद; डीजीपी बोले- बहादुर सिपाही पर गर्व

              शहीद पीएसओ अल्ताफ हुसैन ईदगाह श्रीनगर के रहने वाले थे। (फाइल फोटो)

  • आतंकियों के साथ फायरिंग में कॉन्सटेबल अल्ताफ हुसैन ने एक आतंकी को मार गिराया
  • पिछले तीन महीनों से वे भाजपा नेता गुलाम कादिर की सुरक्षा में लगे थे

जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक कॉन्सटेबल अल्ताफ हुसैन ने अपनी जान देकर भाजपा नेता की जान बचाई। मंगलवार शाम को भाजपा नेता गुलाम कादिर पर उनके गांव नुनर गांदरबल में आतंकवादियों ने हमला कर दिया। उस समय वे अपने बॉडीगार्ड के साथ कंगन शहर जा रहे थे।

हमला होते ही उनके पीएसओ अल्ताफ हुसैन सतर्क हो गए। उन्होंने आतंकियों पर जवाबी फायरिंग की। इस दौरान अल्ताफ को गोली लग गई, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और आतंकियों से अकेले ही भिड़े रहे। गोली लगने के बाद भी उन्होंने एक आतंकी को मार गिराया। घायल कॉन्सटेबल अल्ताफ को श्रीनगर के हॉस्पिटल में ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई। उधर, मारे गए आतंकी की पहचान पुलवामा के शबीर के रूप में हुई है।

2011 में पुलिस विभाग में शामिल हुए

शहीद कॉन्सटेबल अल्ताफ हुसैन ईदगाह श्रीनगर के रहने वाले थे। 2011 में वह पुलिस विभाग में शामिल हुए थे। पिछले तीन महीनों से वे भाजपा नेता की सुरक्षा में लगे थे। उनके परिवार में अब माता-पिता, पत्नी और एक साल का बेटा है।

जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने अल्ताफ के साहस को सलाम किया। उन्होंने कहा कि बहादुर सिपाही शहीद मो. अल्ताफ हुसैन को सलाम। विभाग को ऐसे वीर जवानों पर गर्व है।

 

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

NIOS अपडेट्स:जनवरी-फरवरी, 2021 में आयोजित होगी बोर्ड परीक्षा, ऑफिशियल वेबसाइट nios.ac.in के जरिए रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे सेकेंडरी- हायर सेकेंडरी स्टूडेंट्स

  नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ओपन स्कूलिंग (NIOS) ने अक्टूबर 2020 में होने वाली बोर्ड परीक्षाओं की के बारे में जानकारी साझा की है। इस बारे में बो...