CBSE सैंपल पेपर:70 फीसदी पाठ्यक्रम के साथ बोर्ड ने जारी किए सैंपल क्वेश्चन पेपर, इस साल 10वीं-12वीं में पूछे जाएंगे कॉम्पिटेंसी बेस्ड क्वेश्चन्स

 

कोरोना से बचाव के तहत स्कूल बंद हैं और पढ़ाई ऑनलाइन कराई जा रही है। ऐसे में स्टूडेंटस की मदद के मकसद से CBSE ने 10वीं- 12वीं बोर्ड परीक्षाओं के लिए बचे हुए पाठ्यक्रम के साथ सैंपल पेपर जारी किए हैं। स्टूडेंट्स cbseacademic.nic.in के जरिए 10वीं-12वीं के सभी विषयों के सैंपल पेपर डाउनलोड कर सकते हैं।

12वीं में पहली बार पूछे जाएंगे कॉम्पिटेंसी बेस्ड सवाल

बोर्ड की तरफ से जारी सैंपल पेपर से ये स्पष्ट है कि इस साल 12वीं में पहली बार स्टूडेंट्स से क्षमता आधारित (कॉम्पिटेंसी बेस्ड) सवाल पूछे जाएंगे। इन सवालों की संख्या कुल प्रश्नों की तुलना में 10 फीसदी होगी। 10वीं में भी इस बार कॉम्पिटेंसी बेस्ड सवालों की संख्या में बढ़ोतरी की है। लगभग 20 फीसदी सवाल कॉम्पिटेंसी बेस्ड होंगे। CBSE से मिली जानकारी के मुताबिक यह बदलाव केवल इस साल की बोर्ड परीक्षाओं के लिए ही किए गए हैं।

10वीं वार्षिक परीक्षा 2021 के क्वेश्चन पेपर में कई बदलाव

अधिकारियाें के मुताबिक CBSE ने 10वीं एनुअल एग्जाम 2021 के क्वेश्चन पेपर पैटर्न में कई बदलाव किए हैं। मैथ्स से मल्टीपल च्वाइस क्वेश्चन (एमसीक्यू) को हटा दिया गया है। स्टूडेंट्स को अब एक मार्क के सवाल का जवाब बहुत कम शब्दों में देना होगा। वहीं, साइंस में दो मार्क्स के क्वेश्चन को हटा दिया गया है। अब सिर्फ एक, तीन और पांच मार्क्स के क्वेश्चन पूछे जाएंगे।

12वीं के क्वेश्चन पेपर में भी बदलाव

सामाजिक विज्ञान में भी विकल्प वाले प्रश्नों की जगह सिर्फ वेरी शॉट क्वेश्चन रहेंगे। इससे पहले बोर्ड ने 12वीं के क्वेश्चन पेपर पैटर्न में भी बदलाव किया है। यह बदलाव लॉकडाउन में स्टूडेंट्स की तैयारी ठीक से नहीं होने के कारण किए गए हैं। अब वेरी शॉट क्वेश्चन की संख्या भी 20 से घटाकर 16 कर दी गई है। साइंस में छह क्वेश्चन बढ़ाए गए हैं, तो मैथ्स में चार क्वेश्चन कम पूछे जाएंगे।

पहली बार 10वीं और 12वीं में गणित का एक जैसा पैटर्न

बोर्ड ने पहली बार 12वीं के क्वेश्चन पेपर पैटर्न पर 10वीं का क्वेश्चन पेपर बनाया है। इससे मैथ्स पढ़ने वाले स्टूडेंट्स को प्लस टू में आसानी होगी। सेंट माइकल हाई स्कूल के मैथ्स के शिक्षक संजय कुमार ने बताया कि पहली बार ऐसा होगा जब 10वीं के क्वेश्चन पेपर का पैटर्न 12वीं के जैसा रहेगा। बेसिक और स्टैंडर्ड मैथ का पैटर्न एक जैसा रहेगा। बोर्ड ने यह स्पष्ट कर दिया है कि प्रश्न सारे आसान रहेंगे ताकि स्टूडेंट्स काे इन्हें सॉल्व करने और समझने में आसानी हाे।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

अमेरिका-चीन फाइट:अमेरिका ने चीन की चिप निर्माता और ऑयल कंपनियों को ब्लैकलिस्ट किया, प्रतिबंधित कंपनियों की संख्या 35 पर पहुंची

  पेंटागन द्वारा ब्लैकलिस्टेड 4 नई कंपनियों में सेमीकंडक्टर मैन्यूफैक्चरिंग इंटरनेशनल कॉरपोरेशन और चाइना नेशनल ऑफशोर ऑयल कॉरपोरेशन के नाम ...