रिपोर्ट:2030 तक 31 लाख करोड़ डॉलर तक पहुंच सकता है 5G कंज्यूमर मार्केट, कंपनियों की प्रति ग्राहक कमाई में भी बढ़ोतरी का अनुमान

 

रिपोर्ट के मुताबिक अगले एक दशक में केवल डिजिटल सर्विस रेवेन्यू से CSP कंपनियों की कमाई 131 बिलियन डॉलर तक बढ़ सकती है।

  • 2019 के शुरुआत में औसत ग्राहकों ने 5G के लिए 20% प्रीमियम का भुगतान किया
  • CSP कंपनियों को प्रति ग्राहक से होने वाली कमाई भी औसतन 34% बढ़ेगी

एरिक्सन रिसर्च ने ग्लोबल 5G कंज्यूमर मार्केट पर एक ताजा रिपोर्ट जारी किया है। रिपोर्ट में अनुमान जताया गया है कि 2030 तक दुनियाभर का 5G कंज्यूमर मार्केट 31 लाख करोड़ डॉलर तक पहुंच सकता है। इसमें कम्युनिकेशन सर्विस प्रोवाइडर यानी CSP की आय 3.7 लाख करोड़ डॉलर तक हो सकती है। इस दौरान CSP कंपनियों की प्रति ग्राहक कमाई भी बढ़ेगी।

कंपनियों की कमाई में बढ़ोतरी का अनुमान

रिपोर्ट के मुताबिक अगले एक दशक में केवल डिजिटल सर्विस रेवेन्यू से CSP कंपनियों की कमाई 131 बिलियन डॉलर तक बढ़ सकती है। हालांकि, कंपनियों की कुल आय का लगभग 40% हिस्सा 5G ग्राहकों पर निर्भर करेगा कि वे वीडियो, ऑगमेंट रियल्टी (AR), वर्चुअल रियल्टी (VR) और क्लाउड गेमिंग पर कितना खर्च करते हैं। इसी दौरान ऑगमेंट रियल्टी आधे से ज्यादा ग्राहकों के खर्च को संचालित करेगा, जिसमें गेमिंग, शॉपिंग, एजुकेशन और अन्य बड़े माध्यमों शामिल हैं।

5G यूजर्स पर कोरोना का असर

रिपोर्ट में कोरोना महामारी से प्रभावित पर्सनल फाइनेंस और प्रायोरिटी को भी दर्शाया गया है, जिसमें 5G सब्सक्रिप्शन के प्रीमियम भुगतान का जिक्र किया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक 2019 के शुरुआत में औसत ग्राहकों ने 5G के लिए 20% प्रीमियम का भुगतान करते थे, जो 2020 के अंत तक घटकर 10% नीचे फिसल गया है। हालांकि, अभी भी औसतन हर तीन में से एक ग्राहक 20% प्रीमियम का भुगतान कर रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक इससे इकोनॉमी रिकवरी को भी सपोर्ट मिलेगा।

5G सर्विस का ग्लोबल मार्केट साइज

एरिक्सन रिसर्च रिपोर्ट में कहा गया है कि CSP कंपनियों को प्रति ग्राहक से होने वाली कमाई भी औसतन 34% बढ़ेगी। इससे CAGR पर कंज्यूमर रेवेन्यू औसतन बढकर 2.7% हो जाएगी, जो फ्लैट 0.03% है। वहीं, ग्रैंड न्यू रिसर्च के मुताबिक 2020 अंत तक में 5G सर्विस का ग्लोबल मार्केट साइज 41.48 बिलियन डॉलर हो जाएगा, जो 2021-27 के बीच 43.9% बढ़ने का अनुमान है।

भारत में 5G ट्रायल

भारत में भी 5G ट्रायल को लेकर सरकार सक्रियता बरत रही है। इस पर विदेशी कंपनियों के साथ-साथ रिलायंस जियो भी तेजी से काम कर रही है। पिछले महीने मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज की रिपोर्ट में अनुमान जताया गया था कि A सर्कल और मेट्रो शहरों के लिए 78,800 करोड़ रुपए से लेकर 1.3 लाख करोड़ रुपए तक का खर्च आ सकता है। जबकि केवल मुंबई में 5G के लिए 10 हजार करोड़ रुपए के निवेश की जरूरत होगी।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

CRPF PET 2020:CRPF ने जारी की फिजिकल एग्‍जाम की तारीख, 789 पदों पर भर्ती के लिए 14 दिसंबर को होगी परीक्षा

  सेंट्रल रिजर्व पुलिस फोर्स (CRPF) ने सब इंस्‍पेक्‍टर, इंस्‍पेक्‍टर, हेड कांस्‍टेबल समेत अन्‍य पदों पर भर्ती के लिए फिजिकल एग्‍जाम की डेट...